Best vakya ke bhed:वाक्य किसे कहते हैं इसके कितने भेद हैं?

वाक्य किसे कहते हैं? (vakya ki paribhasha):-

व्याकरण के नियमों के अनुसार सजाये गये सार्थक शब्दों के जिस समूह से कोई तात्पर्य स्पष्ट रूप से प्रकट हो जाय, उसे ‘वाक्य’ कहते हैं; जैसे- उमेश पुस्तक पढ़ता है। रानी गीत गाती है। इन शब्द-समूहों से लेखक या वक्ता का पूरा भाव व्यक्त हो जाता है, अतः ये वाक्य है।

vakya ke bhed:-

vakya ke bhed:वाक्य किसे कहते हैं इसके कितने भेद हैं?

वाक्य के कितने भेद होते हैं?vakya ke kitne bhed hote hain:-

सामान्यतः दो आधारों पर वाक्यों के भेद किये जाते हैं:-(क) रचना के आधार पर (ख) अर्थ के आधार पर

रचना के आधार पर वाक्य के भेद(Rachna ke aadhar par vakya ke bhed):-

रचना के आधार पर वाक्य के निम्नलिखित तीन भेद है:-

१. सरल वाक्य:- जिस वाक्य में एक ही उपवाक्य हो, उसे सरल वाक्य कहते हैं। दूसरे शब्दों में जिस वाक्य में एक क्रिया होती है और एक कर्ता होता है, उसे सरल वाक्य कहते हैं। इसमें एक उद्देश्य और एक विधेय रहता है, जैसे- लड़का घर जाती है। राकेश पुस्तक पढ़ता है।

२. मिश्र वाक्य:- जिस वाक्य में एक सरल वाक्य के अतिरिक्त एक या एक से अधिक आश्रित उपवाक्य भी हो उसे मिश्र वाक्य कहते हैं; जैसे यह वहीं नगर है जिसमें मैं वर्षों तक रहा था।

३. संयुक्त वाक्य:- जिस वाक्य में दो या दो से अधिक सरल या मिश्र वाक्य अव्यय के द्वारा जुड़े हो, उसे संयुक्त वाक्य कहते हैं, जैसे – बादल घिरे और मयूर नाचने लगे।

अर्थ के आधार पर वाक्यों के भेद (arth ke aadhar par vakya ke bhed):-

Arth ke aadhar par vakya ke bhed मुख्यतः आठ भेद होते हैं:-

१. विधिवाचक वाक्य:- जिस वाक्य से किसी बात के होने का बोध हो, उसे विधिवाचक वाक्य कहते हैं, जैसे-अच्छे शिक्षक अच्छी पुस्तकें चाहते है। मैं पढ़ा चुका, तो वह आया।

२. निषेधवाचक वाक्य:- जिस वाक्य से किसी बात के न होने का बोध होता है उसे निषेधवाचक वाक्य कहते हैं, जैसे मेधावी छात्र परीक्षा में चोरी नहीं करते।

३. आज्ञावाचक वाक्य:- जिस वाक्य से आज्ञा, अनुरोध या आदेश आदि भाव प्रकट हों, उसे आज्ञावाचक वाक्य कहते हैं, जैसे- हमेसा सच बोलो। अच्छी किताब ही पढ़ो।

४. प्रश्नवाचक वाक्य:- जिस वाक्य से किसी प्रकार के प्रश्न किये जाने का बोध हो, उसे प्रश्रवाचक वाक्य कहते हैं: जैसे-अच्छे आदमी की पहचान क्या है ? बड़प्पन की निशानी क्या है ?

५. विस्मयादिबोधक वाक्य जिस वाक्य से विस्मय, हर्ष, दुःख, घृणा, तिरस्कार इत्यादि का भाव व्यंजित हो, उसे विस्मयादिबोधक वाक्य कहते हैं, जैसे ओह दर्द के मारे सिर फटा जा रहा है। वाह रे बहादुर तुमने देश के लिए क्या नहीं किया।

६. इच्छावाचक वाक्य- जिस वाक्य से इच्छा या शुभकामना का भाव प्रकट होता हो, उसे इच्छावाचक वाक्य कहते हैं; जैसे – भगवान आपको खुस रखे।

७. सन्देहवाचक वाक्य:- जिस वाक्य से किसी प्रकार के संदेह का भाव प्रकट हो, उसे संदेहवाचक वाक्य कहते हैं, जैसे- बच्ची सौ रही होगी। उसने हिसाब बना लिया होगा।

८. संकेतवाचक वाक्य:- जिस वाक्य से किसी शर्त या संकेत का बोध हो, उसे संकेतवाचक वाक्य कहते हैं, जैसे- यदि तुम पढ़ते तो आज यह नौबत नहीं आती। यदि बाढ़ नहीं आती, तो इतनी बर्बादी नहीं होती।

░I░m░p░o░r░t░a░n░t░ ░T░o░p░i░c░s░

पर्यायवाची शब्द? विलोम शब्द? क्रिया विशेषण?

Tense in Hindi संज्ञा की परिभाषा? विशेषण शब्द लिस्ट?

सर्वनाम किसे कहते हैं? पदबंध class 10

मिश्र वाक्य (mishra vakya):-

मिश्र वाक्यों का उपवाक्यों से क्या संबंध है।

मिश्र वाक्य का निर्माण उपवाक्यों के बिना हो ही नहीं सकता है। अतः मिश्र वाक्य का उपवाक्यों से घनिष्ठ संबंध है।

उपवाक्य ऐसे पद-समूह को कहते हैं, जो एक वाक्य का अंग हो, जिसमें उद्देश्य और विधेय हो तथा जिसका अपना अर्थ हो।

उपवाक्य तीन तरह के होते हैं – (१) संज्ञा उपवाक्य, (२) विशेषण उपवाक्य और (३) क्रियाविशेषण उपवाक्य

१. मिश्र वाक्य में संज्ञा उपवाक्य मुख्य उपवाक्य की क्रिया का कर्ता, कर्म या पूरक बनकर आता है, जैसे- राम ने कहा कि मैं गाँव छोड़ दूँगा। इस मिश्र वाक्य में ‘मैं गाँव छोड़ दूंगा’ ‘कहा’ क्रिया का कर्म है।

२. मिश्र वाक्य में विशेषण उपवाक्य मुख्य उपवाक्य की किसी संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बतलाता है। जैसे- दिल्ली, जो भारतवर्ष की राजधानी है, एक ऐतिहासिक नगरी है।

३. मिश्र वाक्य में क्रियाविशेषण उपवाक्य मुख्य उपवाक्य में आयी हुई क्रिया की विशेषता बतलाता है; जैसे-जब मैं आया था, तब तुम गाना गा रहे थे। यहाँ ‘जब मैं आया था क्रियाविशेषण उपवाक्य है जो ‘गा रहे थे’ क्रिया की विशेषता बतलाता है।

वाक्य के कितने भेद होते हैं Class 10?

अर्थ के आधार पर वाक्य के मुख्यतः आठ भेद होते हैं:- १. विधिवाचक वाक्य, २. निषेधवाचक वाक्य, ३. आज्ञावाचक वाक्य, ४. प्रश्नवाचक वाक्य, ५. विस्मयादिबोधक वाक्य, ६. इच्छावाचक वाक्य, ७. सन्देहवाचक वाक्य, ८. संकेतवाचक वाक्य ।
रचना के आधार पर वाक्य के मुख्यतः तीन भेद है:- १. सरल वाक्य, २. मिश्र वाक्य, ३. संयुक्त वाक्य

कौन सा मिश्र वाक्य है?

जिस वाक्य में एक सरल वाक्य के अतिरिक्त एक या एक से अधिक आश्रित उपवाक्य भी हो उसे मिश्र वाक्य कहते हैं; जैसे यह वहीं नगर है जिसमें मैं वर्षों तक रहा था।

Tags:- वाक्य, वाक्य किसे कहते हैं, vakya ke bhed, sanyukt vakya, mishra vakya, vakya ke kitne bhed hote hain, vakya ke bhed class 10, arth ke aadhar par vakya ke bhed, rachna ke aadhar par vakya ke bhed, vakya ke bhed class 9, rachna ke aadhar par vakya ke bhed class 10, vakya ke bhed in hindi.

  • नारी शिक्षा पर निबंध – Best Nari Shiksha Essay in Hindi 2023

    नारी शिक्षा पर निबंध – Nari Shiksha Essay in Hindi प्रस्तावना – हमारा समाज पुरुष प्रधान है। यहां यह माना जाता है कि पुरुष बाहर जाते हैं और अपने परिवार के लिए कमाते हैं। महिलाओं से अपेक्षा की जाती है कि वे घर पर रहें और परिवार की देखभाल करें। पहले इस व्यवस्था का समाज … Read more

  • Best Circus Essay in Hindi – सर्कस पर निबंध इन हिंदी – 2022

    Circus Essay in Hindi – सर्कस पर निबंध इन हिंदी सर्कस भी मनोरंजन का एक साधन है। जिसे हर उम्र के लोग पसंद करते हैं। सर्कस में तरह-तरह के करतब किए जाते हैं। शेर, हाथी, भालू आदि जंगली जानवरों को सर्कस में प्रशिक्षित किया जाता है और विभिन्न खेल और चश्मे दिखाए जाते हैं। वहीं … Read more

  • वर्षा ऋतु पर निबंध – Best Rainy Season Essay in Hindi 2022

    वर्षा ऋतु पर निबंध (Rainy Season Essay in Hindi) साल के मौसम हमारे लिए बहुत सारी खुशियाँ लेकर आते हैं। भारत में मानसून एक बहुत ही महत्वपूर्ण मौसम है। वर्षा ऋतु मुख्य रूप से आषाढ़, श्रवण और वडो के महीनों में होती है। मुझे बरसात का मौसम बहुत पसंद है। यह भारत में चार सत्रों … Read more

  • खेल पर निबंध – Best Sports Essay in Hindi

    खेल पर निबंध (Sports Essay in Hindi) खेल एक शारीरिक गतिविधि है, जिसके खेलने के तरीके के आधार पर अलग-अलग नाम होते हैं। खेल लगभग सभी बच्चों को पसंद होते हैं, चाहे वह लड़कियां हों या लड़के। आमतौर पर लोग खेलों के फायदे और महत्व को लेकर तरह-तरह के तर्क देते हैं। और हां, हर … Read more

  • Best Cricket Essay in Hindi -क्रिकेट पर निबंध 500 शब्दों में

    Cricket Essay in Hindi -क्रिकेट पर निबंध क्रिकेट का परिचयजीवन में खेलों का विशेष स्थान है। जिस प्रकार जीवन के लिए खान-पान आवश्यक है, उसी प्रकार जीवन को सुखी बनाने के लिए खेलकूद भी आवश्यक है। कई तरह के खेल खेले जाते हैं। आज कई खेल खुले मैदान में खेले जाते हैं जैसे हॉकी, फुटबॉल, … Read more

  • कुत्ता पर निबंध – Best Dog Essay in Hindi

    Dog Essay in Hindi – कुत्ता पर निबंध:- सामान्य परिचय एक कुत्ता एक पालतू जानवर है। इसका वैज्ञानिक नाम कैनिस ल्यूपस फेमिलेरिस है। कुत्ता लोमड़ी की एक प्रजाति है। यह एक स्तनपायी है और मादा अपनी संतान को जन्म देती है। यह आमतौर पर एक बार में 5-6 बच्चों को जन्म देती है। वे मांसाहारी … Read more

Leave a Comment