All 12 Months name in Hindi and English – महीनों के नाम

Months name in Hindi and English (महीनों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में):-

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से All 12 Months name in Hindi and English में बताने जा रहे हैं। आप सभी जानते हैं कि साल में 12 महीने होते हैं। 12 महीने का नाम तो बहुतों को पता होगा लेकिन कई विदेशियों या बच्चों को महीने का नाम और उसका मतलब हिंदी में नहीं पता होगा। हम यह लेख उन लोगों के लिए लाए हैं जो महीने का नाम हिंदी में नहीं जानते हैं।महीने के नाम के बारे में हिंदी और अंग्रेजी में जानने और जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख के साथ बने रहें। हालाँकि, आजकल बाजार में सभी प्रकार के कैलेंडर उपलब्ध हैं जिनके माध्यम से आप सभी तिथियां, दिन और महीने देख सकते हैं।

12 Months name in Hindi and English - महीनों के नाम

यदि आप महीने का नाम हिंदी और अंग्रेजी दोनों में जानना चाहते हैं तो आप इस लेख में दी गई जानकारी के माध्यम से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। (महीने का नाम हिंदी और अंग्रेजी में) 12 महीने का नाम – हिंदी महीने का नाम जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

12 महीनो के नाम:-

Englishहिंदीदिन
Januaryजनवरी31
Februaryफरवरी28 / 29
Marchमार्च31
Aprilअप्रैल30
Mayमई31
Juneजून30
Julyजुलाई31
Augustअगस्त31
Septemberसितम्बर30
Octoberअक्टूबर31
Novemberनवम्बर30
Decemberदिसम्बर31

हिंदी महीनो के नाम हिन्दू कैलेंडर के अनुसार Hindu Calendar Months Name in Hindi:-

आम तौर पर हम जनवरी, फरवरी के महीने का नाम जानते हैं, लेकिन प्राचीन काल में यह नाम मौजूद नहीं था। उस समय भारत में हिंदू कैलेंडर के अनुसार महीनों के नाम देखे जा सकते थे। सटीक समय महीने के हिसाब से निर्धारित किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, यदि यह 6 महीने है, तो इसका मतलब है कि आधा साल बीत चुका है। इसी तरह, एक साल जब बारह महीने पूरे हो जाते हैं।

हिंदी महीनो के नामउच्‍चारणMonth name in English
चैत्रChaitrमार्च-अप्रैल
वैशाखVaishakhअप्रैल -मई
ज्येष्ठJyeshthमई -जून
आषाढ़Aashaadhजून-जुलाई
श्रावणShraavanजुलाई-अगस्त
भाद्रपदBhaadrapadअगस्त-सितम्बर
आश्विनAashvinसितम्बर-अक्टूबर
कार्तिकKaartikअक्टूबर-नवम्बर
मार्गशीर्षMaargasheershनवम्बर-दिसम्बर
पौषPaushदिसम्बर-जनवरी
माघMaghजनवरी-फरवरी
फाल्गुनPhaalgunफरवरी-मार्च

░Y░o░u░ ░M░a░y░ ░a░l░s░o░░L░i░k░e░

vegetarian animals name list

Carnivorous animals chart

All insects name in Hindi and English

महीनों का महत्व और ऋतू के नाम:-

आप सभी जानते हैं कि साल में 12 महीने होते हैं। अंग्रेजी और हिंदू दोनों धर्मों के कैलेंडर आजकल बाजार में उपलब्ध हैं ताकि आप सभी महीनों के नाम देख सकें। आपको बता दें कि सभी महीनों के अलग-अलग मायने होते हैं। इसी प्रकार निम्नलिखित ऋतुएँ/ऋतु वर्ष भर में आती हैं जैसे-

ग्रीष्म ऋतूGreeshm rtoo
वर्षा ऋतूVarsha rtoo
बसंत ऋतूBasant rtoo
शिशिर ऋतूShishir rtoo
शरद ऋतूSharad rtoo
हेमंत ऋतूHemant rtoo

Months name in Hindi and English FAQ:-

फरवरी में कितने दिन होते है?

आप फरवरी में लगभग 28 या 29 दिन पढ़ते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि फरवरी में 29 दिन होते हैं। जब हमारा कैलेंडर बनाया गया था, तब पृथ्वी की समयावधि एक वर्ष में 365 तिगुनी थी। यह कैलेंडर पृथ्वी और सूर्य की कक्षाओं पर आधारित है। क्योंकि पृथ्वी सूर्य की एक परिक्रमा 365 दिन 6 घंटे में पूरी करती है। जिससे हर साल 8 घंटे का समय बचता था, अब हर 4 साल में एक दिन की बचत हो रही है। तो इस बचे हुए दिन को फरवरी के महीने में जोड़ दिया जाता है। तो हर चार साल में फरवरी में 29 दिन होते हैं।

साल के प्रथम महीने का क्या नाम है ?

साल के प्रथम महीने को January कहा जाता है।

1 साल में कितने दिन होते है ?

एक साल में 365 दिन होते है।

बवासीर के लक्षण और उनसे बचने के उपाय

बवासीर के लक्षण बवासीर एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यह तब होता है जब मल त्याग करने वाली नसें सूज जाती हैं और गुदा के आसपास की त्वचा के नीचे बढ़ जाती हैं। बवासीर के दो मुख्य प्रकार होते हैं – आंतरिक बवासीर और बाहरी…

Continue Reading बवासीर के लक्षण और उनसे बचने के उपाय

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय | Piles Treatment in Hindi

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय बवासीर एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यह तब होता है जब मल त्याग करने वाली नसें सूज जाती हैं और गुदा के आसपास की त्वचा के नीचे बढ़ जाती हैं। बवासीर के दो मुख्य प्रकार होते हैं – आंतरिक…

Continue Reading बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय | Piles Treatment in Hindi

फोबिया: सबसे अच्छा आयुर्वेदिक और मनोवैज्ञानिक उपचार

फोबिया: एक परिचय यह एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जिसमें किसी विशिष्ट चीज़, स्थिति, या जीवन्त वस्तु के प्रति असमान संवेदनशीलता होती है। यह दर, घबराहट, और शारीरिक असामर्थ्य के साथ आ सकता है। फोबिया क्या है? Phobia एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जिसमें व्यक्ति किसी विशेष चीज़, स्थिति, या प्राणी से गहरा डर प्राप्त…

Continue Reading फोबिया: सबसे अच्छा आयुर्वेदिक और मनोवैज्ञानिक उपचार

Motiyabind Kya Hai (मोतियाबिन्द मीनिंग) – व्याख्या और उपयोग

Motiyabind Kya Hai(मोतियाबिन्द मीनिंग) क्या आपको पता है कि “मोतियाबिन्द” शब्द का क्या मतलब होता है और इसका कैसे उपयोग किया जाता है? यदि नहीं, तो इस लेख में हम आपको “मोतियाबिन्द” शब्द के मतलब और इसके विभिन्न प्रकारों की व्याख्या देंगे और यह भी बताएंगे कि आप इसे अपने जीवन में कैसे उपयोग कर…

Continue Reading Motiyabind Kya Hai (मोतियाबिन्द मीनिंग) – व्याख्या और उपयोग

Motiyabind Operation (मोतियाबिंद ऑपरेशन): आंखों की स्वास्थ्य के लिए नई उम्मीद

Motiyabind Operation: मोतियाबिंद ऑपरेशन, जिसे आंखों के कई रोगों का इलाज के रूप में किया जाता है, आजकल आंखों के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए एक महत्वपूर्ण तकनीक बन गई है। यह तकनीक आंखों के कई प्रकार के रोगों के इलाज के लिए उपयोगी है, और यह एक नई आशा का स्रोत है जिसे लोग…

Continue Reading Motiyabind Operation (मोतियाबिंद ऑपरेशन): आंखों की स्वास्थ्य के लिए नई उम्मीद

Motiyabind ke Lakshan (मोतियाबिंद के लक्षण) और मुख्य कारण

Motiyabind ke Lakshan: Motiyabind ke Lakshan:मोतियाबिंद क्या होता है?मोतियाबिंद के प्रमुख लक्षणमोतियाबिंद के लक्षणों का कारणमोतियाबिंद के उपचारमोतियाबिंद के उपचार की समय सीमामोतियाबिंद के उपचार के बाद का सावधानीपूर्ण ध्यानमोतियाबिंद के उपचार के बाद के लाभमोतियाबिंद के लक्षण को अनदेखा न करेंमोतियाबिंद के लक्षण: अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)मोतियाबिंद क्या होता है?मोतियाबिंद के उपचार…

Continue Reading Motiyabind ke Lakshan (मोतियाबिंद के लक्षण) और मुख्य कारण

Leave a Comment