Barbiturate meaning in Hindi – बार्बिटुराते मतलब हिंदी में

Barbiturate meaning in Hindi – बार्बिटुराते मतलब

बार्बिटुराते (Barbiturates) एक प्रकार की दवा है जिसका उपयोग निद्रा न आने (insomnia) और चिंता (anxiety) जैसे विकारों के इलाज के लिए किया जाता है। ये दवाएं केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (central nervous system) को धीमा करके काम करती हैं, जिससे व्यक्ति को शांत और नींद आने में मदद मिलती है। हालांकि, बार्बिटुराते नशीली दवाएं हैं और इसके दुरुपयोग और लत का खतरा होता है।

बार्बिटुरेट के प्रकार

Barbiturate के कई प्रकार हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • अल्ट्रा-शॉर्ट-एक्टिंग बार्बिट्यूरेट्स (Ultra-short-acting barbiturates): इन दवाओं का प्रभाव बहुत जल्दी शुरू होता है और जल्दी ही समाप्त हो जाता है। इनका उपयोग मुख्य रूप से सर्जरी से पहले या बाद में एनेस्थीसिया के रूप में किया जाता है।
  • शॉर्ट-एक्टिंग बार्बिट्यूरेट्स (Short-acting barbiturates): इन दवाओं का प्रभाव जल्दी शुरू होता है और कुछ घंटों तक रहता है। इनका उपयोग मुख्य रूप से चिंता और नींद न आने के इलाज के लिए किया जाता है।
  • इंटरमीडिएट-एक्टिंग बार्बिट्यूरेट्स (Intermediate-acting barbiturates): इन दवाओं का प्रभाव 4-6 घंटों तक रहता है। इनका उपयोग मुख्य रूप से नींद न आने के इलाज के लिए किया जाता है।
  • लॉन्ग-एक्टिंग बार्बिट्यूरेट्स (Long-acting barbiturates): इन दवाओं का प्रभाव 8-12 घंटों तक रहता है। इनका उपयोग मुख्य रूप से गंभीर नींद न आने के इलाज के लिए किया जाता है।

बार्बिटुरेट के उपयोग

Barbiturate का उपयोग निम्नलिखित स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है:

  • नींद न आना (Insomnia)
  • चिंता (Anxiety)
  • दौरे (Seizures)
  • मांसपेशियों में ऐंठन (Muscle spasms)
  • सर्जरी से पहले या बाद में एनेस्थीसिया के रूप में

बार्बिटुरेट के दुष्प्रभाव

बार्बिट्यूरेट के कुछ सामान्य दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

  • चक्कर आना
  • उनींदापन
  • समन्वय में कठिनाई
  • सोच में कठिनाई
  • पेट में दर्द
  • कब्ज
  • उलटी करना

Barbiturate का अधिक मात्रा में सेवन करने से गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • सांस लेने में कठिनाई
  • कोमा
  • मृत्यु

बार्बिटुरेट के उपयोग में सावधानी

बार्बिट्यूरेट के उपयोग में निम्नलिखित सावधानी बरतनी चाहिए:

  • बार्बिट्यूरेट नशीली दवाएं हैं और इनके दुरुपयोग और लत का खतरा होता है।
  • बार्बिट्यूरेट का सेवन अन्य दवाओं, जैसे कि शराब या अन्य शामक दवाओं के साथ नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • बार्बिट्यूरेट का सेवन गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं द्वारा नहीं करना चाहिए।
  • बार्बिट्यूरेट का सेवन बुजुर्ग लोगों द्वारा सावधानी के साथ करना चाहिए, क्योंकि इनमें दुष्प्रभाव होने का खतरा अधिक होता है।

बार्बिटुरेट के विकल्प

बार्बिट्यूरेट के कई विकल्प उपलब्ध हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • गैर-बेंजोडायजेपाइन शामक दवाएं
  • मेलाटोनिन
  • नींद की स्वच्छता (Sleep hygiene)

यदि आपको नींद न आने या चिंता की समस्या है, तो अपने डॉक्टर से बात करे।

बार्बिटुरेट के दुरुपयोग और लत

Barbiturate नशीली दवाएं हैं और इनके दुरुपयोग और लत का खतरा होता है। बार्बिटुरेट का दुरुपयोग करने वाले लोग अक्सर इन दवाओं को अधिक मात्रा में लेते हैं या उन्हें ऐसी स्थितियों के लिए लेते हैं जिनके लिए वे निर्धारित नहीं हैं। बार्बिटुरेट की लत तब होती है जब किसी व्यक्ति को इन दवाओं की इतनी अधिक आवश्यकता होती है कि वह बिना उनके सामान्य रूप से कार्य नहीं कर पाता है।

बार्बिटुरेट के दुरुपयोग और लत के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • निर्धारित खुराक से अधिक बार्बिटुरेट लेना
  • बार्बिटुरेट को उन स्थितियों के लिए लेना जिनके लिए वे निर्धारित नहीं हैं
  • बार्बिटुरेट प्राप्त करने के लिए चोरी करना या धोखा देना
  • बार्बिटुरेट के बिना काम, स्कूल या अन्य गतिविधियां करने में असमर्थ होना
  • बार्बिटुरेट के उपयोग के कारण रिश्तों में समस्याएं आना
  • बार्बिटुरेट के उपयोग के कारण कानूनी समस्याएं आना

यदि आपको लगता है कि आप या कोई जिसे आप जानते हैं, वह बार्बिटुरेट के दुरुपयोग या लत से पीड़ित है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें।

बार्बिटुरेट के दुरुपयोग और लत से निपटना

Barbiturate के दुरुपयोग और लत का इलाज करने के लिए विभिन्न प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • डिटॉक्सिफिकेशन: यह उपचार बार्बिटुरेट के उपयोग को धीरे-धीरे कम करके शरीर को दवा से मुक्त करने में मदद करता है।
  • पुनर्वास: यह उपचार लोगों को बार्बिटुरेट का उपयोग बंद करने और स्वस्थ जीवन शैली अपनाने में मदद करता है।
  • थेरेपी: यह उपचार लोगों को बार्बिटुरेट के उपयोग से जुड़ी भावनाओं और व्यवहारों से निपटने में मदद करता है।

यदि आपको बार्बिटुरेट के दुरुपयोग या लत से निपटने में मदद की आवश्यकता है, तो अपने डॉक्टर या किसी मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर से बात करें।

FAQ:

प्रश्न: बार्बिटुरेट क्या हैं?

उत्तर: बार्बिट्यूरेट एक प्रकार की दवा है जिसका उपयोग निद्रा न आने (insomnia) और चिंता (anxiety) जैसे विकारों के इलाज के लिए किया जाता है।

प्रश्न: बार्बिटुरेट के उपयोग के क्या दुष्प्रभाव हैं?

उत्तर: बार्बिट्यूरेट के कुछ सामान्य दुष्प्रभावों में चक्कर आना, उनींदापन, समन्वय में कठिनाई, सोच में कठिनाई, पेट में दर्द, कब्ज और उल्टी करना शामिल हैं। बार्बिट्यूरेट का अधिक मात्रा में सेवन करने से गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जैसे सांस लेने में कठिनाई, कोमा और मृत्यु।

प्रश्न: बार्बिटुरेट के उपयोग में क्या सावधानी बरतनी चाहिए?

उत्तर: बार्बिट्यूरेट नशीली दवाएं हैं और इनके दुरुपयोग और लत का खतरा होता है। बार्बिट्यूरेट का सेवन अन्य दवाओं, जैसे कि शराब या अन्य शामक दवाओं के साथ नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। बार्बिट्यूरेट का सेवन गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं द्वारा नहीं करना चाहिए। बार्बिट्यूरेट का सेवन बुजुर्ग लोगों द्वारा सावधानी के साथ करना चाहिए, क्योंकि इनमें दुष्प्रभाव होने का खतरा अधिक होता है।

प्रश्न: बार्बिटुरेट के विकल्प क्या हैं?

उत्तर: बार्बिटुरेट के कई विकल्प उपलब्ध हैं, जिनमें गैर-बेंजोडायजेपाइन शामक दवाएं, मेलाटोनिन और नींद की स्वच्छता (Sleep hygiene) शामिल हैं।

Read More:-

Aloof meaning in Hindi – Aloof का अर्थ और उसका महत्व

Fluent meaning in Hindi – फ़्लूएंट का हिंदी में मतलब

Allergy meaning in Hindi – एलर्जी मतलब हिंदी में

Aesthetic meaning in Hindi – एस्थेटिक मतलब हिंदी में

बवासीर के लक्षण और उनसे बचने के उपाय

बवासीर के लक्षण बवासीर एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यह तब होता है जब मल त्याग करने वाली नसें सूज जाती हैं और गुदा के आसपास की त्वचा के नीचे बढ़ जाती हैं। बवासीर के दो मुख्य प्रकार होते हैं – आंतरिक बवासीर और बाहरी…

Continue Reading बवासीर के लक्षण और उनसे बचने के उपाय

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय | Piles Treatment in Hindi

बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय बवासीर एक आम समस्या है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है। यह तब होता है जब मल त्याग करने वाली नसें सूज जाती हैं और गुदा के आसपास की त्वचा के नीचे बढ़ जाती हैं। बवासीर के दो मुख्य प्रकार होते हैं – आंतरिक…

Continue Reading बवासीर के मस्से सुखाने के उपाय | Piles Treatment in Hindi

फोबिया: सबसे अच्छा आयुर्वेदिक और मनोवैज्ञानिक उपचार

फोबिया: एक परिचय यह एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जिसमें किसी विशिष्ट चीज़, स्थिति, या जीवन्त वस्तु के प्रति असमान संवेदनशीलता होती है। यह दर, घबराहट, और शारीरिक असामर्थ्य के साथ आ सकता है। फोबिया क्या है? Phobia एक मानसिक स्वास्थ्य समस्या है जिसमें व्यक्ति किसी विशेष चीज़, स्थिति, या प्राणी से गहरा डर प्राप्त…

Continue Reading फोबिया: सबसे अच्छा आयुर्वेदिक और मनोवैज्ञानिक उपचार

Motiyabind Kya Hai (मोतियाबिन्द मीनिंग) – व्याख्या और उपयोग

Motiyabind Kya Hai(मोतियाबिन्द मीनिंग) क्या आपको पता है कि “मोतियाबिन्द” शब्द का क्या मतलब होता है और इसका कैसे उपयोग किया जाता है? यदि नहीं, तो इस लेख में हम आपको “मोतियाबिन्द” शब्द के मतलब और इसके विभिन्न प्रकारों की व्याख्या देंगे और यह भी बताएंगे कि आप इसे अपने जीवन में कैसे उपयोग कर…

Continue Reading Motiyabind Kya Hai (मोतियाबिन्द मीनिंग) – व्याख्या और उपयोग

Motiyabind Operation (मोतियाबिंद ऑपरेशन): आंखों की स्वास्थ्य के लिए नई उम्मीद

Motiyabind Operation: मोतियाबिंद ऑपरेशन, जिसे आंखों के कई रोगों का इलाज के रूप में किया जाता है, आजकल आंखों के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए एक महत्वपूर्ण तकनीक बन गई है। यह तकनीक आंखों के कई प्रकार के रोगों के इलाज के लिए उपयोगी है, और यह एक नई आशा का स्रोत है जिसे लोग…

Continue Reading Motiyabind Operation (मोतियाबिंद ऑपरेशन): आंखों की स्वास्थ्य के लिए नई उम्मीद

Motiyabind ke Lakshan (मोतियाबिंद के लक्षण) और मुख्य कारण

Motiyabind ke Lakshan: Motiyabind ke Lakshan:मोतियाबिंद क्या होता है?मोतियाबिंद के प्रमुख लक्षणमोतियाबिंद के लक्षणों का कारणमोतियाबिंद के उपचारमोतियाबिंद के उपचार की समय सीमामोतियाबिंद के उपचार के बाद का सावधानीपूर्ण ध्यानमोतियाबिंद के उपचार के बाद के लाभमोतियाबिंद के लक्षण को अनदेखा न करेंमोतियाबिंद के लक्षण: अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)मोतियाबिंद क्या होता है?मोतियाबिंद के उपचार…

Continue Reading Motiyabind ke Lakshan (मोतियाबिंद के लक्षण) और मुख्य कारण